Debate on social networking in hindi language. Translate debate on social networking in in Hindi 2022-12-30

Debate on social networking in hindi language Rating: 7,2/10 960 reviews

सामाजिक नेटवर्किंग पर चर्चा

हालांकि, सामाजिक नेटवर्किंग को लोग अपनी जिज्ञासाओं और विचारों को साझा करने और अपने दोस्तों और परिवार से जुड़े रहने के लिए अपने जीवन का हिस्सा बनाते हैं, लेकिन इसका उपयोग अपने खास महत्व से अधिक हो सकता है। सामाजिक नेटवर्किंग की सुविधाओं का उपयोग करके, लोग अपने व्यक्तित्व को साझा करने और अपने विचारों और आदतों को अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचा सकते हैं। सामाजिक नेटवर्किंग से लोग अपने स्वामित्व का प्रतीक बनाकर अपने विचारों को साझा कर सकते हैं, जो वहाँ पर अपने स्थानों

Youngsters debate the Hindi directive on social media

debate on social networking in hindi language

Manipuri dialects, such as Gangte and Kom are among the lowest spoken languages. इसके साथ वो अपने knowledge को भी दुसरे लोगों के साथ share कर सकते हैं. Tamil Nadu observed Jan 26, 1965 when the Official Languages Act came into force as a day of mourning. सोशल मीडिया की परिभाषा सोशल मीडिया उन websites और applications की सुविधा को समझा जाता है जो की हम आप जैसे users को ये व्यवस्था प्रदान करती है जिससे की हम और आप आसानी से अपने और दूसरों के कांटेंट create और share कर पाएँ। वहीं साथ में हम एक दूसरे के साथ जुड़ें और participate करें social networking चैनल के माध्यम से। सोशल मीडिया Basic in hindi आम तोर से Social Mediaing Services users को profile बनाने के लिए allow करते हैं. Social networking websites Downloads Youtube 10+ बिलियन Facebook 5 बिलियन Whatsapp 5+ बिलियन Messenger 5+ बिलियन Instagram 1+ बिलियन Snapchat 1+ बिलियन Twitter! यह ग्राहकों को कई विकल्प देकर, क्लाइंट से फीडबैक प्राप्त करके, और अपने व्यवसाय को अगले स्तर तक बढ़ाकर इसे पहुंच योग्य तरीके से प्रचारित करके दर्शकों के विचारों का पता लगाने में भी उनकी मदद करता है. इसके साथ इससे हमें एक दुसरे के साथ मिलने में सहायता मिलती है और जो चीज़ें हम अपने voice के द्वारा बता नहीं सकते उन्हें इसके मदद से हम दूसरों तक वह संदेश पहुंचा सकते हैं. आज के समय में बदलते मानव को अपनों से जोड़ने और प्रेम बढाने में इन साइट्स की महत्वपूर्ण भूमिका हैं.


Next

सोशल नेटवर्किंग साइट पर निबंध Essay On Social Media In Hindi Language

debate on social networking in hindi language

सोशल मीडिया द्वारा आप जागरूकता फैला सकते है। Disadvantage of Social Media — सोशल मीडिया के नुकसान 1. Article 350B provides for the establishment of a Special Officer for linguistic minorities. Business Network यह वह वेबसाइट है जिसे किसी Online Businessको करने के उद्देश्य से लोगों और ग्राहकों को अपने साथ जोड़ा जाता है ताकि वह अपने बिज़नेस का प्रचार कर सकें और ग्राहकों को अपने साथ जोड़कर मुनाफ़ा कमा सकें। यह आधुनिक दौर में बिज़नेस करने का नया तरीका है क्योंकि आज हर कोई ऑनलाइन रहता हैं और Online Shopping की बढ़ती लोकप्रियता के कारण आज के समय मे बिज़नेस को ऑनलाइन उपलब्ध करना पड़ता हैं ताकि अपनी वैल्यू और ग्रहकों को बढ़ाया जा सकें। 3. इसको Business Model के तोर पर कैसे इस्तमाल किया जाता है ये तो हम भली भांति जानते हैं की जहाँ अच्छे traffic होते हैं वहीं पर ही अच्छा business model तैयार किया जा सकता है. फ्रॉड और साइबर क्राइम जैसी घटनाओं में वृदि हो रही है. मुझे नयी नयी Technology से सम्बंधित चीज़ों को सीखना और दूसरों को सिखाने में बड़ा मज़ा आता है. उदहारण के तोर पर Facebook, Twitter, Instagram, MySpace, Ask इत्यादि.

Next

सोशल मीडिया क्या है, इसके फायदे और नुक्सान

debate on social networking in hindi language

What the Census 2011 data says about the Hindi Vs Non-Hindi issue The number of Scheduled languages was 22 and the Non Scheduled languages, 99 in 2011 as against 100 in 2001. . सोशल मीडिया की दुनिया आपको असल दुनिया से अलग कर देती है। तो दोस्तों Social Media के लाभ और हानि दोनों है परन्तु यह आप पर निर्भर करता है कि आप Social Media का इस्तेमाल किसी प्रकार करते हैं क्योंकि यह आपकी जिंदगी बदल सकता हैं और बर्बाद भी कर सकता हैं। अगर आज के समय की बात की जाये तो Social Media हमारी जिंदगी से जुड़ चुका है इसलिए आज हम असल दुनिया से ज्यादा सोशल दुनिया मे अपने दोस्त बनाते है और अपने विचारों को दूसरों के साथ शेयर करते है। लेकिन सबसे जरूरी बात यह है कि यह मनुष्य द्वारा हमारे इस्तेमाल के लिए बनाये गये है ना कि यह हमारा इस्तेमाल करें इसलिए ज़रूरत के हिसाब से ही Social Media का इस्तेमाल करें और व्यर्थ समय नष्ट न करें। तो उमीद करता हूं दोस्तों आपकों हमारा यह आर्टिकल Social Media क्या है और इसके फ़ायदे और नुकसान क्या है आपकों पसंद आया होगा और अगर आपको आर्टिकल अच्छा लगता है यो इसे अपने उन्ह दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे जो Social Media का बहुत ज्यादा इस्तेमाल करते है और अगर आपका कोई सवाल है तो हमें कंमेंट बॉक्स में जरूर बताये। हर जानकारी अपनी भाषा हिंदी में सरल शब्दों में प्राप्त करने के हमारे फेसबुक पेज को लाइक करे जहाँ आपको सही बात पूरी जानकारी के साथ प्रदान की जाती है हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें. सोशल मीडिया पर बहुत सारे फ़के लोग मौजूद होते है। 10. मगर किसी तरह की ऑनलाइन हेराफेरी को नियंत्रित करने में साइबर कानून भी लाचार हैं. वे बाहर कदम रखे बिना अपनी चीजें प्राप्त कर सकता है.

Next

सोशल नेटवर्किंग क्या है? [What is social networking? in Hindi]

debate on social networking in hindi language

जैसे आपका नाम, पता, मोबाइल नंबर, आयु, मेल आईडी etc. The Hindi should not be imposed till the non-Hindi speaking states agree to it. SP J2 सोशल मीडिया Social Media एक ऐसा मीडिया है, जो बाकी सारे मीडिया प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक और समानांतर मीडिया से अलग है। सोशल मीडिया इंटरनेट के माध्यम से एक वर्चुअल वर्ल्ड बनाता है जिसे उपयोग करने वाला व्यक्ति सोशल मीडिया के किसी प्लेटफॉर्म फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम आदि का उपयोग कर पहुंच बना सकता है। वेबदुनिया में पढ़ें : सोशल मीडिया क्या वाकई सोशल है? सोशल मीडिया एक शब्द है जिसमें समूह या व्यक्तियों के बीच बातचीत का वर्णन किया जाता है। सोशल मीडिया और सोशल नेटवर्किंग दुनिया भर के लोगों के जीवन का एक अनिवार्य हिस्सा है। युवा लोगों पर सोशल नेटवर्क का प्रभाव महत्वपूर्ण है। सामाजिक नेटवर्क के लिए कई अलग-अलग राय हैं सोशल मीडिया के सापेक्ष लाभ और नुकसान अक्सर बहस का विषय है। सोशल मीडिया के कुछ फायदे में ऐसे मित्रों और परिवार के संपर्क में रहना आसान है, जो दूर-दूर रहते हैं, समान विचारधारा वाले लोगों से जुड़ते हैं, और व्यापारिक संपर्कों का विस्तार करते हैं, आमतौर पर मुफ्त में। सोशल मीडिया का इस्तेमाल सामाजिक और राजनीतिक मुद्दों के प्रति जागरूकता बढ़ाने और प्रदर्शनों का आयोजन करने के लिए किया गया है। सोशल मीडिया के अक्सर उद्धृत नुकसान में वास्तविक दुनिया, निजी कनेक्शन और साइबर धमकी, पीछा, हैकिंग और अन्य गोपनीयता की चिंताओं की संभावनाएं शामिल हैं। सोशल मीडिया का सबसे बड़ा फायदा लोगों को जोड़ने की अपनी ताकत है यह परिवार और दोस्तों के लिए एक लोकप्रिय तरीका बन गया है जो एक-दूसरे से दूर रहकर कभी-कभी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर लंबी दूरी की कॉलिंग की महंगी कीमत के बिना, एक-दूसरे के जीवन में क्या हो रहा है, इसे जारी रखने के लिए। एक बहुत ही अलग क्षेत्र में, सोशल मीडिया का एक अन्य फायदा यह है कि यह लोगों को अनौपचारिक रूप से कनेक्ट करने के लिए उपयोग किया जा सकता है लेकिन अकादमिक रूप से। मैं अन्य छात्रों के बारे में जानता हूं जो कि उनके समूह की परियोजनाओं और कक्षाओं के लिए इसकी ज़रूरत नहीं होने पर फेसबुक का उपयोग नहीं करेंगे। दूसरी ओर, कुछ आलोचकों ने तर्क दिया है कि सोशल मीडिया केवल लोगों को एक दूसरे से दूर करने के लिए कार्य करता है। हालांकि यह महान है कि आप किसी दूसरे देश में अपनी चाची से संपर्क कर सकते हैं, फिर भी ये डिजिटल इंटरैक्शन अभी भी आमने-सामने संपर्क के लिए एक खराब प्रतिस्थापन है। कभी-कभी, दोस्तों को वास्तविक जीवन के करीब होने की आवश्यकता महसूस नहीं होती क्योंकि उन्हें लगता है कि ऑनलाइन चैट करने से इस के लिए काम हो सकता है। सोशल मीडिया का एक और नुकसान यह है कि यह अनुपयुक्त कार्यों के लिए एक मंच के रूप में काम कर सकता है। लोग ऐसा कह सकते हैं या कह सकते हैं कि वे वास्तविक जीवन में नहीं होंगे क्योंकि सोशल मीडिया में संचार के लिए न्यूनतम नियम हैं। ल्यूकेमिया से पीड़ित एक जवान औरत के लिए एक अस्थि मज्जा दाता को खोजने के लिए सोशल मीडिया ने अपने छोटे इतिहास में कई असाधारण काम किए हैं, जो लंबे समय से खोए हुए मित्रों से जुड़ते हैं। लेकिन जब दुनिया को बचाने के व्यवसाय की बात आती है तो यह बहुत आसान नहीं है। मैल्कम ग्लैडवेल ने बचत दलफुर गठबंधन द्वारा स्थापित समूह के उदाहरण का उपयोग किया। इसके कई हजार सदस्य हैं, लेकिन अनुसंधान ने दिखाया है कि औसतन उन्होंने केवल नौ सेन्ट्स का दान दिया है इंटरनेट के लघु इतिहास में पहले से ही ऐसी वेबसाइटों की संख्या में एक चौंकाने वाली संख्या है जो मोटा हो गई है। बेबो को माइस्पेस और माइस्पेस द्वारा Facebook द्वारा बदल दिया गया था। माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ स्टीव बाल्मर का कहना है कि फेसबुक के जोखिम जैसे व्यक्तिगत सोशल नेटवर्क को "सनक" के रूप में उजागर किया जा रहा है। श्री ब्लेमर ने कहा कि जीओक्टीटीज, एक ऑनलाइन समुदाय जिसे याहू द्वारा 3 अरब डॉलर में खरीदा गया था! वर्ल्डवाइड क्या हो रहा है. The National Policy on Education, 1968 recommended that the states were to adopt a three-language formula. Conclusion There is a lack of a conclusive Supreme Court decision on the Hindi Vs Non-Hindi issue. और केवल invitation मिलने पर ही आप इनमें जुड सकते हैं.

Next

What is social networking hindi सोशल नेटवर्किंग फायदे नुकसान

debate on social networking in hindi language

सोशल नेटवर्किंग साइट्स कैसे काम करती है. फोटोज, वीडियोस, फाइल्स शेयर करने में सोशल वेबसाइट का उपयोग किया जाता है. It would lead to the local people participating in the administration in larger numbers because of being able to communicate in a common language. Hindi Vs Non-Hindi: Sharp differences on the official language issue surfaced during 1956—60. Ramasamy, also called Periyar, opposed the decision of the C Rajagopalachari Cabinet to make Hindi compulsory in secondary schools in Tamil Nadu.


Next

सोशल मिडिया का समाज पर प्रभाव Impact of Social Media on Society in Hindi

debate on social networking in hindi language

मेरी आपसे विनती है की आप लोग इसी तरह हमारा सहयोग देते रहिये और हम आपके लिए नईं-नईं जानकारी उपलब्ध करवाते रहेंगे. स्टेटिस्टा की एक रिपोर्ट के मुताबिक दुनिया के टॉप 10 सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट्स में शुमार है. Linkedin— लिंक्डइन एक करियर-आधारित सोशल नेटवर्किंग साइट है. However, if two or more states agree that their communications shall be in Hindi, then Hindi may be used. Social Media के इस्तमाल के Risks क्या हैं जहाँ Social Medias का इस्तमाल हमें बहुत सारे possibilites का लाभ उठाने में मदद करता है जैसे की अपने दोस्तों के साथ contact बढ़ाना, दुनिया के विषय में नजदीक से जानना, cultures के बारे में जानना, long-distance relationships, इत्यादि. फेसबुक, इंस्टाग्राम, फेसबुक मैसेंजर, ट्विटर, पिंटरेस्ट, रेडिट, स्नैपचैट, व्हाट्सएप, मैसेंजर बाय गूगल और टम्बलर. इसे प्ले स्टोर पर 1 बिलियन बार डाउनलोड किया गया है.

Next

Translate debate on social networking in in Hindi

debate on social networking in hindi language

In this debate, the pro- Hindi side states that having a national language would unite the entire country, whereas the anti side says that the imposition of Hindi would put non-Hindi speaking people at a great disadvantage. Therefore, both Hindi and English became the official languages of India. Democracy has its relevance when politics and administration is carried out through the language they can understand. नमस्कार दोस्तों सोशल नेटवर्किंग साइट पर निबंध Essay On Social Media In Hindi Language में आपका स्वागत हैं, आज का निबंध सोशल मिडिया क्या है इसके उपयोग लाभ हानि और महत्व पर दिया गया हैं. बल्कि अन्य कई लाभ और भी हैं.

Next

Debate on against the social media in hindi

debate on social networking in hindi language

Born into a Telugu-speaking family and raised in Chennai, Vivek Babu, a postgraduate student, says he first started thinking about the importance of language after a customer care executive denied services to his mother because she did not know English or Hindi. Assamese nationalist organizations expressed concern over these trends. धीरे धीरे सभी चीज़ीं virtual world के तरफ ज्यादा बढ़ रहे हैं. Hindi lacked social science and scientific writing. इसके द्वारा आप इंटरनेट की दुनिया मे फेमस बन सकते है। 15.

Next

Debate on social networking in in English with examples

debate on social networking in hindi language

Signals from the Census 2011 The Census 2011 data shows that there are many languages and dialects which need protection in India. सोशल मीडिया के विशेषताएँ Social Media Service मुख्यतः Web Based Service होते हैं. The government passed the Official Languages Act, 1963 which authorized the continuation of English as an official language in addition to Hindi. सन 2000 आते आते इसी वर्ल्ड वाइड वेब के जरिये दुनिया में सोशल साइट्स अस्तित्व में आई. English is seen as a bulwark against Hindi as well as the language of empowerment and knowledge. The debate of Languages: Hindi Vs Non-Hindi On the occasion of Hindi Diwas on 14th September the Home Minister said that India is a country of different languages and every language has its own importance but it is very important to have a language of the whole country which should become the identity of India globally, today, if one language can do the work of uniting the country, then it is the most spoken language, Hindi. Jammu and Kashmir account for 83% of the Pashto-speaking population while Delhi has 8%.


Next